कविता

कई दिनों से कविता उदास रहती है।
व्यस्त जिन्दगी में भी आसपास रहती है।
नहीं मिलता वक्त उससे मिलने का जरा भी-
इसीलिए आजकल थोडा़ खटास रहती है।।

One thought on “कविता

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *