शायरी

नजर गर किसीकी जो मुझ पर है ठहरे,

उन्हें चाहतो की मैं दुनिया थमा दु

हसीन वादियो में गर मिलन हो हमारा,
उन्हें इस जहाँ में खुदा से मिला दु

कवि-मुरली टेलर”मानस”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *